quit
Subscribe to daily Feed

Delivered by Google Feedburner...
We Not Happy To System
MD MINHAJ,
posted 1 week 12 hours ago.

इसलाम कहता है जब वजू करो तो कम पानी बहाव

फिर हम किसी का खूँन कैसे बहा सकते.....
                  मिनहाज
बहुत अफ़सोस की बात है के लोग अपनी तानाशाही चलाने के लिए निर्दोष लोगों की जान धर्म का  बैनर लगा कर ले रहें हैं हालाँकि सब ही जानते हैं के कोई धर्म भी किसी पर अत्याचार करने की अनुमति नहीं देता है। अफ़सोस की बात तो यह है के जो धर्म शांति स्थापित करने के लिए आया है उसी को आज पूरी दुनिया मे बदनाम , रुसवा किया जा रहा है जी हाँ मैं इस्लाम धर्म की ही बात कर रहा हूँ दरअसल लोगो ने इस्लाम की परिभाषा समझे बगैर ही अपने को मुस्लमान समझने लगे जिस का नतीजा यह हुवा के लोगों ने इस्लाम को अपने तरह से चलाना शरू कर दिए जबकि इस्लामिक शिक्षाओं के अनुसार मनुष्य इस्लाम को नहीं चला सकते हैं दरसल हो यह रहा है के आज इस्लाम और मुस्लमान दो अलग अलग चीज़े हो गए हैं।



एक बात यह भी सच है के लोगों को केवल मुस्लमान आतंकवादी नज़र आते है हालाँकि ऐसे लोग जो लोगो पर अत्याचार करते हैं वो मुस्लमान हो ही नही सकता। लोगो को  मववादी, नक्सली. म्यांमार, चीन , इस्राइल नज़र नही आते हैं मैं  लोगो से अपील करता हूँ की इस्लाम से अपने सोतेला पन का चश्मा उतार कर आतंकवाद को देखना शरू करे।